‘बहन’ के मृत्यु के बाद इंसाफ के लिए बैठा धरने पर ‘भाई’, डॉक्टर की लापरवाही से गई जान:- अग्रिम हॉस्पिटल, रविंद्रपुरी, वाराणसी

Uttam Savera News
2 Min Read

वाराणसी | अग्रिम हॉस्पिटल, रविंद्रपुरी मैं डॉक्टर की लापरवाही से शिक्षिका की गई जान, अदलहाट मिर्जापुर कम अपोजिट विद्यालय इब्राहिमपुर में तैनात शिक्षिका जो 37 वर्षीय प्रीति सिंह का इलाज के दौरान वाराणसी के एक अग्रिम हॉस्पिटल, रविंद्रपुरी में डॉक्टर की लापरवाही से मौत हो गई

शिक्षिका के भाई ने आरोप लगाते हुए वाराणसी के भेलूपुर थाने में मुकदमा दर्ज कराया है पुलिस ने शव पोस्टमार्टम कराने के बाद परिवार वालों को सौंप दिया गुरुवार की देर शाम शिक्षिका कासव गांव पहुंचते ही कोहराम मच गया अदलहाट क्षेत्र के गरौडी ग्राम निवासी प्रीति सिंह पति अखिलेश सिंह सहायक अध्यापिका के पद पर कार्यरत थी बुधवार को उनकी तबीयत खराब होने पर वाराणसी के एक चिकित्सालय में भर्ती कराया गया था जहां इलाज के दौरान उनकी मौत हो गई

वहीं दूसरी ओर शिक्षिका के भाई का कहना है कि बहन अबॉर्शन कराने के लिए हॉस्पिटल में भर्ती हुई थी,  शिक्षिका  के पेट में 1 महीने 10 दिन का बच्चा था | इस बीच हॉस्पिटल की तरफ से कोई भी नहीं ब्लड सैंपल लिया, और ना ही अल्ट्रासाउंड की जांच कराई गई सीधे एनएसथीसिया का इंजेक्शन लगाया गया था और इंजेक्शन लगने के तत्पश्चात शिक्षिका की मौत हो गई रविंद्रपुरी अग्रिम हॉस्पिटल के सामने ही धरने पर शिक्षिका के भाई बैठ गए और अपनी मांगों को लेकर वही धरना देने लगे और रोते हुए अपना दुख व्यक्त किया वहीं दूसरी ओर शिक्षिका दो बच्चों भी है जिनकी उम्र बहुत छोटी है भाई का कहना है कि अब उनको कौन देखेगा |

वैसे मौके का अवसर कोई खोना नहीं चाहता इसका जीता जागता सबूत आपने करोना काल में जरूर देखा होगा की कितनी तेजी से दवा व्यवसाई और डॉक्टर रातों-रात फर्श से अर्श तक पहुंच गए हैं …

फोटो:वीडियो: अशोक पाण्डेय (उत्तम सवेरा न्यूज़, मीडिया प्रभारी, उत्तर प्रदेश)

Share this Article
Leave a comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

nineteen − 2 =

Exit mobile version