मेडिकल छात्र बैठे धरने पर काशी हिंदू विश्वविद्यालय, कुलपति आवास के सामने

Uttam Savera News
3 Min Read

काशी हिन्दु विश्वविद्यालय, वाराणसी, मेडिकल छात्र बैठे धरने पर काशी हिंदू विश्वविद्यालय, कुलपति आवास के सामने

आयुर्वेद संकाय, चिकित्सा विज्ञान संस्थान, का0हि0वि0वि0 में पीजी आयुर्वेद (एम0डी0एम0एस0) की सीटों में बढ़ोत्तरी हेतु। आयुर्वेद संकाय चिकित्सा विज्ञान संस्थान का0हि0वि०वि0 में विगत 45 वर्षों से सीएसी0० आई0 एम0 के पीजी (आयु) प्रवेश के नए अधिनियमानुसार शिक्षक छात्र अनुपतानुसार हमारे संकाय में पीजी की सीटों में बढ़ोत्तरी नहीं हुई है। हमनें पिछले 3 वर्षों में काफी कोशिशे की लेकिन कोई परिणाम नहीं निकला इससे परेशान होकर हम धरने पर बैठे है। और हम चाहते हैं कि हमारी मांगे जो निम्नलिखित है पूरी की जायें |

बी0एच0यू0 वित्त विभाग हमारे 50 पीजी सीटों की बढ़ोत्तरी के लिये में रजिस्ट्रेशन के लिये आवश्यक 80 लाख तत्काल प्रभाव से जारी करें, जो पिछले साल से रोका गया है।

अप्रैल-2020 में 4-शल्य की NCISMसे पारित सीटों का फंड बी0एच0यू0 अपने वित्त कोष से जारी करें। जिससे इसी वर्ष होने वाली पीजी सीटों की काउंसलिंग में 2016 बैंच को इसका लाभ मिले ।

बी0एच0यू0 (बी0एच0यू0 वित्त विभाग द्वारा 80 लाख का फंड जारी होने के साथ-साथ के बी0एच0यू0 के अधिकारी) प्रशासन UGC को तत्काल प्रभाव से प्रस्तावित सीटों । ये के लिये प्रस्ताव भेजे। जिसमें यह बताएं कि बी0एच0यू0 के आयुर्वेद । के में 50 सीटों की बढ़ोत्तरी होगी, उसके लिए तत्काल प्रभाव से फड जारी करें|

उत्तम सवेरा कैमरे की नजर से :- 

लगातार दो दिनों से धरने पर बैठे हैं मेडिकल के छात्र  , सड़कों पर कुलपति आवास के सामने धरना देने को मजबूर छात्र छात्रों का कहना है कि लगातार 15 वर्षों से हम अपनी मांगों को मांगते आए हैं जो आज तक सिर्फ और सिर्फ आश्वासन दीया ही जाता है इस बीच जब उत्तम सवेरा की टीम ने छात्रों से बात की तो छात्रों का कहना है कि लगातार दो दिनों से सड़कों के बीच व कुलपति आवास के सामने धरने पर बैठे हुए हैं कुलपति महोदय हम लोगों के सामने से अपनी AC वाली कार में बैठकर हम लोगों के सामने से निकल जाते हैं, बड़े शर्म की बात यह है करोना काल में सभी के जीवन रक्षा करने वाले या डॉक्टर को आज सड़कों पर अपनी मांगों को लेकर बैठना पड़ रहा है और उससे बड़ी बात यह है कि इनकी बातों को सुनने वाला भी कोई नहीं है, बहराल यह बीएचयू प्रशासन का इतिहास रहा है किसी भी मामले को अटकाने, लटकाने नहीं लेते तब तक बीएचयू प्रशासन का पेट नहीं भरता है |

 

फोटो:वीडियो: अशोक पाण्डेय (उत्तम सवेरा न्यूज़, मीडिया प्रभारी, उत्तर प्रदेश)

Share this Article
Leave a comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

3 × 2 =

Exit mobile version