आगामी प्रधानमंत्री के वाराणसी दौरे के दौरान सभी समुचित व्यवस्थाएं समय से पूर्ण करें-योगी आदित्यनाथ।

Amit Gupta
Amit Gupta
8 Min Read

वाराणसी। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ अपने दो दिवसीय दौरे पर मंगलवार को वाराणसी पहुंचे। बाबतपुर स्थित लाल बहादुर शास्त्री अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डा से सीधे हुए सड़क मार्ग द्वारा करिखयांव में बनास काशी संकुल जाकर वहां तीस एकड़ जमीन पर लगभग 475 करोड़ की लागत से निर्मित अमूल प्लांट का निरीक्षण किया। तत्पश्चात मुख्यमंत्री करिखयांव से सड़क मार्ग द्वारा सर्किट हाउस पहुंचे और यहां पर उपस्थित जनप्रतिनिधियों से भेंट वार्ता करने के पश्चात अधिकारियों के साथ विकास एवं शहर में चल रहे निर्माण परियोजनाओं के प्रगति की विस्तार से समीक्षा की।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने प्रधानमंत्री के आगामी प्रस्तावित वाराणसी दौरे के कार्यक्रम की समीक्षा के दौरान सभी आवश्यक तैयारी समय से उच्च गुणवत्ता के साथ पूर्ण कराए जाने हेतु संबंधित अधिकारियों को निर्देशित किया। लोक निर्माण विभाग के कार्यों में हो रही देरी के लिए एनओसी के समय ही टेन्डर प्रक्रिया अपनाने का सुझाव दिया। मुख्यमंत्री ने अधिकारियों को मौके पर जाकर कार्य देखने हेतु निर्देशित किया, ताकि सड़क व नाली मानक के अनुसार बने। लोक निर्माण विभाग के चीफ इंजीनियर को बचे कार्यों को मार्च के प्रथम सप्ताह में पूरा करने को निर्देशित किया तथा इस प्रकार व्यवस्था करने को निर्देशित किया, ताकि कार्य के दौरान अनावश्यक आवागमन बाधित न हो तथा सड़कों को गड्ढामुक्त रखते हुए गुणवत्ता का ख्याल रखा जाए।

सारनाथ में प्रो-पुअर योजना के तहत हो रहे कार्यों में देरी पर नाराजगी जताते हुए विकास प्राधिकरण से सभी डिजाइन समय पर कार्यदायी संस्था को देते हुए बचे कार्यों को मार्च के प्रथम सप्ताह तक पूरा कराये जाने हेतु निर्देशित किया। उन्होने निर्माण कार्य के दौरान सड़क सुरक्षा एवं आमजन की सुरक्षा का पूरा ध्यान रखे जाने पर विशेष जोर देते हुए कार्य के दौरान सुरक्षा के निर्धारित मानकों का शत-प्रतिशत पालन सुनिश्चित किए जाने हेतु संबंधित विभाग के अभियंताओं को निर्देशित किया।पीडब्ल्यूडी द्वारा सड़कों के चौड़ीकरण एवं सुधारणीकरण के कार्य में विलंब होने पर नाराजगी व्यक्त करते हुए निर्माणाधीन सभी 06 सड़को के कार्यों को मार्च के प्रथम सप्ताह तक पूर्ण कराए जाने हेतु निर्देशित किया।

जिससे आम जनमानस को सुगम यातायात में कोई परेशानी न होने पाए। पंचकोसी परिक्रमा मार्ग पर विकसित किए गए पड़ावों के संचालन वह रखरखाव आदि के आदि के सुदृण व्यवस्था सुनिश्चित कराए जाने हेतु निर्देशित किया। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने स्थानीय जनप्रतिनिधियों द्वारा ध्यानाकृष्ट कराये जाने पर परियोजनाओं के निर्माण में अधिग्रहित होने वाले भवनों एवं जमीनों का समुचित मुआवजा संबंधित पक्ष को दिए जाने पर विशेष जोर दिया। पंचकोशी परिक्रमा मार्ग पर बनी धर्मशालाओं पर अवैध कब्जे को हटाते हुए इसको साधु-संतों तक ही सीमित रखा जाये, इसका फायदा पेशेवर लोग न लेने पाए। जिलाधिकारी एस. राजलिंगम द्वारा एयरपोर्ट विस्तारीकरण के कार्यों के बारे में मुख्यमंत्री के समक्ष रखा गया, जिस पर मुख्यमंत्री ने भूमि अधिग्रहण में आ रही सभी परेशानियों को दूर करते हुए शीघ्रता से भूमि अधिग्रहण कराए जाने हेतु निर्देशित किया।

मुख्यमंत्री ने सामूहिक विवाह योजना में मिल रही शिकायतो को गंभीरता से लेते हुए इसमें किसी भी स्तर पर गड़बड़ी पाई जाने पर जिम्मेदार अधिकारियों एवं संबंधित व्यक्तियों के विरुद्ध कड़ी कार्रवाई किए जाने हेतु निर्देशित किया। अभ्यर्थियों को नियुक्ति पत्र वितरण किए जाने के संबंध में निर्देशित करते हुए कहा कि प्रधानमंत्री के कार्यक्रम के पश्चात अन्य मंडलों एवं जनपदों में जनप्रतिनिधियों की उपस्थिति में नियुक्ति पत्र वितरण की व्यवस्था कराया जाए। रवींद्रपुरी में सीवर और नाली आदि के कार्य को शीघ्रता से पूर्ण कराए जाने हेतु पूर्ण कराए जाने हेतु जल संस्थान के अधिकारी को निर्देशित किया। निर्माण कार्यों की समीक्षा के दौरान राजकीय निर्माण निगम के लंबित निर्माण कार्यों को समय से पूर्ण कराए जाने हेतु हिदायत देते हुए कहा कि लापरवाही पाए जाने पर कार्रवाई सुनिश्चित की जाएगी।

शिव प्रसाद गुप्त मंडलीय चिकित्सालय को उच्चीकृत किए जाने हेतु धनराशि और अवमुक्त होने के बावजूद कार्य प्रारंभ न होने पर नाराजगी जताते हुए भवन खंड के अधिशासी अभियंता के विरुद्ध शासन को पत्र लिखने तथा कार्य शीघ्र शुरू कराए जाने का निर्देश दिया। नवशहरी क्षेत्रों में ड्रेनेज,सीवर, पेयजल की समुचित व्यवस्था के साथ ही साफ सफाई के अलावा स्ट्रीट लाइट आदि की व्यवस्था कराई जाने हेतु निर्देशित किया।मुख्यमंत्री ने प्रधानमंत्री के आगामी प्रस्तावित वाराणसी दौरे के दौरान कार्यक्रम की दृष्टिगत शहर एवं सड़कों पर समुचित स्वच्छता एवं सजावट कराए जाने का निर्देश दिया। कार्यक्रम के दौरान सड़क पर कहीं भी गंदगी नहीं देखनी चाहिए। उन्होंने अधिकारियों एवं जनप्रतिनिधियों को इस दौरान विशेष स्वच्छता अभियान चलाए जाने पर भी विशेष जोर दिया।

उन्होंने कहा कि सड़कों पर कहीं भी छुट्टा पशु नहीं दिखाई देने चाहिए। सड़के गड्ढा मुक्त रहे। अच्छी लाइटों का का प्रबंध हो। सुरक्षा एवं सुरक्षा यातायात व्यवस्था चुस्त दुरुस्त रहे। उन्होंने जनप्रतिनिधियों की सुझावो पर विचार करते हुए प्राथमिकता पर अनुपालन सुनिश्चित कराए जाने पर विशेष जोर दिया। मुख्यमंत्री ने कहा कि अयोध्या प्राण प्रतिष्ठा के बाद प्रधानमंत्री का यह पहला वाराणसी दौरा है, सभी संबंधित विभागों की जिम्मेदारी तय कर कार्यक्रम को भव्यता के साथ संपन्न कराया जाना सुनिश्चित हो। बैठक की शुरुआत में कमिश्नर कौशल राज शर्मा द्वारा प्रधानमंत्री के प्रस्तावित वाराणसी दौरे के दौरान लोकार्पित व शिलान्यास होने वाली परियोजनाओं को मुख्यमंत्री के समक्ष रखते हुए सभी प्रशासनिक तैयारियों से अवगत कराया गया। पुलिस कमिश्नर अशोक मुथा जैन द्वारा मुख्यमंत्री के समक्ष प्रधानमंत्री के प्रस्तावित दौरे के दौरान रोड डायवर्जन, सभी प्रस्तावित स्थलों पर सुरक्षा व्यवस्था तथा ट्राफिक के उचित प्रबंध के बारे में बताया। मुख्यमंत्री ने पूरी जिम्मेदारी से इसको पूरा कराए जाने हेतु निर्देशित किया।

  समीक्षा बैठक में उत्तर प्रदेश स्टांप एवं न्यायालय पंजीयन शुल्क राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) रविंद्र जायसवाल, आयुष एवं खाद्य सुरक्षा राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) डॉ दयाशंकर मिश्र ‘दयालु’, जिला पंचायत अध्यक्ष पूनम मौर्या, महापौर अशोक तिवारी, क्षेत्रीय अध्यक्ष दिलीप सिंह पटेल, एमएलसी हंसराज विश्वकर्मा, एमएलसी अश्वनी त्यागी, त्यागी पूर्व मंत्री एवं विधायक डॉ नीलकंठ तिवारी, विधायक सौरभ श्रीवास्तव, विधायक डॉ अवधेश सिंह, विधायक टी राम, विधायक सुनील पटेल, कमिश्नर कौशल राज शर्मा, पुलिस कमिश्नर अशोक मुथा जैन, जिलाधिकारी एस. राजलिंगम, संयुक्त पुलिस आयुक्त, प्रबंध निदेशक पूर्वांचल विद्युत वितरण निगम लिमिटेड, उपाध्यक्ष विकास प्राधिकरण, नगर आयुक्त, मुख्य विकास अधिकारी सहित अन्य विभागीय अधिकारी प्रमुख रूप से उपस्थित रहे।

 

Share this Article
Leave a comment